FLN क्या है ? बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान 2022 क्या है ? with Free Pdf

0
154

FLN क्या है ? बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान 2022 क्या है ?

Table of Contents HIDE
1 FLN क्या है ? बुनियादी साक्षरता एवं संख्याज्ञान 2022 क्या है ?

FLN क्या है इसका फुल फॉर्म क्या होता है

FLN का Full Form– (Foundational Literacy and Numeracy)

बच्चों की समझ के साथ पढ़ने और बुनियादी गणितीय संक्रियाओं को करने की क्षमता ही FLN है

FLN क्या है ?
FLN क्या है ?

FLN का उद्देश क्या है ?

  1. लक्ष्य निर्धारण और संचारबुनियादी साक्षरता और संख्या ज्ञान के लिए सीखने के परिणामी और सक्षम दक्षताओं को संहितावध और संप्रेषित करना
  2. सीखने सिखाने की सामग्री– शिक्षकों के लिए निष्पादन में आसानी सुनिश्चित करते हुए गुणवत्तापूर्ण सामग्री और सामग्री का उपयोग करके बाल केंद्रित शिक्षा शास्त्र पर जोड़ देना
  3. शिक्षक प्रशिक्षण – ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड के माध्यम से निरंतर पेशेवर समर्थन के माध्यम से एफ एल ए ग्रेड के शिक्षकों की क्षमता का निर्माण करना
  4. अकादमिक अनुसमर्थन– एयरप्लेन विशिष्ट परिणामों के लिए शिक्षकों का मार्गदर्शन करना और स्कूलों द्वारा की गई प्रगति की समीक्षा करना
  5. आकलन और मूल्यांकन -छात्रों के सीखने के अंतर को समझना और सीखने के परिणामों को रणनीतिक रूप से बेहतर बनाने के लिए क्षेत्रों की पहचान करना

बुनियादी साक्षरता के प्रमुख सिद्धांत क्या है ?

  1. मौखिक भाषा विकास
  2. ध्वनि जागरूकता
  3. डिकोडिंग
  4. पठन और पढ़कर समझना
  5. लेखन

सुनकर समझना + शब्द पहचान = पढ़कर समझना

FLN में शिक्षकों की भूमिका

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (NEP) का उदठेश्य सभी स्तरों पर शिक्षकों को भारतीय समाज के सबसे सम्मानित ओर आवश्यक सदस्यों के रूप में फिर से स्थापित करना है।
  •  बड़े पैमाने के अध्ययनों के साक्ष्य बताते हैं कि एक शिक्षक की प्रभावशीलता का छात्रों के सीखने पर एक शक्तिशाली प्रभाव पड़ता है|
  • बुनियादी साक्षरता एवं संख्या ज्ञान ज्ञान मिशन के तहत विद्यार्थियों में मूलभूत कौशलों को विकसित कराने में
  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 (NEP) की परिकल्पना है कि शिक्षक हर साल कम से कम 50 घंटे के निरंतर प्रोफेशनल विकास (070) के अवसरों में भाग लेंगे, जो उनके अपने हितों तथा आवश्यकताओं से प्रेररत होंगे।

बुनियादी शिक्षा का अर्थ एवं महत्व

कक्षा 3 के अंत तक एक एसएलएन की समाज वाले बच्चे निम्नलिखित चीजें करने में सक्षम होंगे-

  1. संख्याओं की पहचान
  2. स्थानीय मान की समझ
  3. 3 अंको के जोड़ घटाव और 2 अंकों के गुणन की समस्याओं को हल करना
  4. आकार और पैटर्न की समझ
  5. लंबाई ऊंचाई और वजन की अवधारणाओं की समझ

एक बच्चे को FLN के लिए तैयार माना जाता है जब उसने बुनियादी साक्षरता और संख्यात्मक का से जुड़े कौशल में निपुणता हासिल कर लिया हों

प्रवाह के साथ पढ़ना (ORF) क्या है ? समझना : (साक्षरता का एक लक्ष्य)

  • प्रवाह के साथ पढ़ना (ORF) प्रति मिनट शब्दों की निश्चित संख्या को ठीक से पढ़ने और समझने की योग्यता है
  • साक्षरता कौशल तैयार करने के लिए एक महत्वपूर्ण जरूरत है
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में यह सुनिश्चित करने पर जोर दिया है कि हमारे बच्चे कक्षा 3 के अंत तक 1 मिनट में 30 से 35 शब्द पढ़ने और समझने में समर्थ हो

FLN क्या है 1

राज्य स्तर पर किये गये के कुछ प्रमुख कार्य

कायन्वियन यथास्थिति (प्रशासनिक संरचना )

  1. राज्य संचालन समिति राज्य संचालन समिति का गठन – अपर मुख्य सविच शिक्षा विभाग
  2. राज्य स्तरीय प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट (PMU) का गठन- CSF FLN के कियान्वयन में प्राथमिक षिक्षा निदेधालय का सहयोग कर रहा है।(एमओयू के अनुसार), Care India के नेतृत्व में चार संस्थाओं का कर्सोटियम बिहार शिक्षा परियोजना के FLN PUM के रुप में कार्य कर रहा है। 8 सदस्यीय PMU राज्य स्तर पर प्रस्तावित है जो SCERT को FLN के कियान्वयन में सहयोग करेगा।
  3. जिला FLN मिशन – जिला FLN मिषन जिला पदाधिकारी के नेतृत्व में बनायी जानी है।
  4. राज्य टास्क फोर्स- राज्य स्तर पर कार्यकम के बेहतर अनुश्रवण एवं मार्गदर्शन हेतु राज्य FLN टास्क फ़ोर्स का गठन किया जा रहा है। यह टास्क फोर्स प्रत्येक 45 दिनों में बैठक कर कार्यकम की गतिविधियों की समय सीमा के अन्दर संचालन के लिये बैठक करेगी |
  5. आकलन प्रकोष्ठ – राज्य आकलन प्रकोष्ठ का गठन SCERT में किया गया है। जिला आकलन
    प्रकोष्ठ का गठन डायट स्तर पर किया गया है।

कायन्वियन यथास्थिति (शिक्षण अधिगम सामग्री (TLM)

  1. FLN कक्षाओं के लिये स्कूल FLN किट एवं स्टूडेंट FLN किट- बिहार शिक्षा परियोजना परिषद्‌ के द्वारा FLN स्कूल किट  एवं  Student FLN Kit का क्रय की प्रकिया की जा चुकी है। विद्यालयों में 30 जून तक सामग्री उपलब्ध होने की संभावना है।
  2. स्कूल रेडिनेस पैकेज – SCERT ने तीन महीने का स्कूल रेडिनेस पैकेज NCERT के विद्याप्रवेश’ के आधार पर बनाया है। पैकेज की अंतिम समीक्षा की जा रही है। बच्चों के मध्य जून 2022 से मॉइयूल के संचालन की संभावना है।
  3. कक्षा 4 एवं 2 के लिये कार्य पुस्तिका- SCERT द्वारा कक्षा | एवं ॥ में 2022-23 में विद्यालयों को उपलब्ध कराया
    जाना है।
  4. निपुण लक्ष्यों का हिन्दी भाषा में अनुवाद – BEPC के द्वारा निपुण के लक्ष्यों का संदर्भगरण एवं अनुवाद कराया गया है
    जिसका उपयोग सभी हितधारकों में निपुण के लक्ष्यों के प्रचार प्रसार में किया जायेगा।

कार्यान्वयन यथास्थिति -(उन्मुखीकरण)

  1. जिला स्तरीय पदाधिकारियों का उन्मुखीकरण – FLN एवं NEP 2020 पर दिनांक 5.10.2021]को जिला शिक्षा पदाधिकारियों की उन्मुखीकरण बैठक आयोजित की गई थी
  2. DIET प्राचार्य एवं वरीय व्याख्याताओं का उन्मुखीकरण -DIET प्राचार्यों एवं डायट के वरीय व्याख्याताओं की उन्‍्मुखीकरण बैठक FLN एवं NEP 2020 पर दिनांक 5.0.202 को जिला छिक्षा पदाधिकारियों द्वारा आयोजित की
    गई थी
  3. शिक्षकों का उन्मुखीकरण- You Tube Live (19.6.2021 तथा 30.6.201) सत्र शिक्षकों के उन्‍्मुखीकरण के लिये आयोजित किये गये। जिसमें 2 lakh से अधिक शिक्षकों ने भाग लिया। निष्ठा कार्यकम के अन्तर्गत NCERT के द्वारा निर्मित FLN कार्यकम से संबंधित शिक्षकों के लिये 12मॉड्यूल शुरु किये गये। इन मॉड्यूल पर प्रषिक्षण लेने के लिये 2 लाख के करीब षिक्षकों ने रजिस्ट्रेषन कराया है।
  4. कार्यान्वयन मार्गदर्शिका का विकास – बिहार शिक्षा परियोजना के नेतृत्व में FLN कार्यान्वयन मारगगदर्शिका विकसित की गई है। |

कार्यान्वयन यथास्थिति (IEC सामग्री का विकास)

  1. समेकित IEC म॑दर्षिका का विकास – बिहार शिक्षा परियोजना के नेतृत्व में IEC का समेकित मार्गदर्षिका का विकास
    किया गया है।
  2. IEC सामग्री का विकास – बिहार शिक्षा परियोजना के नेतृत्व में IEC सामग्री विकास हेतु तीन कार्यषालायें आयोजित की गई शिक्षकों एवं विशेषज्ञों के माध्यम से सभी हितधारकों के लिये IEC सामग्री का विकास किया गया है। जिसमें गाने, नारे, पोस्टर इत्यादि सम्मिलित है।
  3. निपुण गान – शिक्षकों की मदद से निपुण गाने की रिकॉर्डिंग की गई है।

क्रियान्वयन प्रगति (Balvatika and coordination with ICDS)

  1. GIS Mapping के माध्यम से बालवाटिका के स्थापना के लिये विद्यालयों का चयन – ऐसे विद्यालयों का GIS Mapping के माध्यम से चयन किया गया है जहां 1 किमी की परिधि में कोई आंगनबाड़ी केन्द्र उपलब्ध नहीं हैं ।चिन्हित 3417 विद्यालयों की सूची जिलावार सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को परीक्षण हेतु प्रेषित किया गया है।
  2. आंगनबाड़ी सेविकाओं एवं सहायिकाओं के लिये सर्टिफिकेट कोर्स का संचालन -BBOSE के माध्यम से आंगनबाड़ी सेविकाओं एवं सहायिकाओं का 6 माह एवं 1 वर्ष का सर्टिफिकेट कोर्स प्रारंभ किया गया है। 30,000 सेविकाओं एवं सहायिकाओं ने कोर्स के लिये रजिस्टर कराया है।
  3. कोर्स सामग्री का पुनःरीक्षण – SCERT के द्वारा ICDS TLM सामग्री का पुनःरटीक्षण कराया गया है जिससे ये सामग्री FLM के संबंध में अधिक प्रासंगिक हुई है।

कार्यान्वयन यथास्थिति (वार्षिक / Perspective कार्ययोजना एवं मॉनिटरिंग)

  1. पाँच वर्षीय Perspective FLN कार्ययोजना का निर्माण- राज्य स्तर पर सभी हितधारकों की मदद से FLN की 5 वर्षीय कार्ययोजना का विकास कर भारत सरकार की स्वीकृति हेतु उपस्थापित किया गया है।
  2. Perspective Plan का Digitalization- Perspective Plan का Digitalization के लिये भारत सरकार के द्वारा बिहार राज्य का भी चयन किया गया।
  3. वार्षिक कार्ययोजना एवं बजट – बिहार शिक्षा परियोजना के द्वारा FLN से संबंधित वर्षिक कार्य योजना एवं बजट के लिये प्रस्ताव समर्पित किये गये हैं।
  4. MOE के द्वारा मॉनिटरिंग – MOE के द्वारा प्राप्त मॉनिटरिंग फार्मेट को नियमित रुप से अपडेठ किया जाता रहा है।
  5. FLN प्रगति प्रतिवेदन-  माझ्मिक एवं त्रैमासिक प्रगति प्रतिवदन उपलब्ध कराया जाता है।

कार्यान्वयन यथास्थिति (आकलन)

  1. विद्यालय स्तरीय आकलन एवं वृहत आकलन के संबंध में चयनित संसाधन समूह का प्रषिक्षण – विद्यालय स्तरीय आकलन एवं वृह्त आकलन के संबंध में चयनित संसाधन संसंसाधन समूह के प्रषिक्षण के लिये SCERT स्तर पर दो कार्यप्रालाओं का आयोजन किया गया था।
  2.  कक्षा 1, 2 एवं 3 के लिये item Bank का निर्माण – कुल तीन कार्यषालाओं में कक्षा 1, 2 एवं 3 के लिये सभी तीन
    विषयों में लगभग 3500 item Bank का निर्माण SCERT के देख रेख में किया गया है।
  3. Holistic Progress Card का विकास – कक्षा 1, 2 एवं 3 के लिये Holistic Progress Card का विकास SCERT के द्वारा किया गया है।
  4. सैंपल आधारित बेसलाइन सर्वेक्षण -कक्षा 2 के बच्चों का सैंपल आधारित बेसलाइन सर्वेक्षण दिनांक 8-03-22 को सभी प्रखंडों के 3-3 विद्यालयों में कराया गया।
  5. मास्टर प्रषिक्षकों का प्रषिक्षण मास्टर प्रषिक्षकों का प्रषिक्षण 2.03.2022 को आयोजित किया गया।

FLN PDF Downloads – Click Here

Most Important Question and Answer
  1.  FLN का पूरा नाम क्या है ?-

Answer- Foundational Literacy and Numeracy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here